"Mukhya Baat" "मुख्य बात "

मुख्य बात


श्री रघुनाथ दास गोस्वामी को उपदेश देते समय कहा था -

अच्छे वस्त्र नहीं पहनना , अच्छा भोजन नहीं करना सांसारिक बातें न करना न सुनना। सांसारिक=विशेषकर स्त्री प्रसंग


"Krishan to prapt hi hai" "कृष्ण तो प्राप्त ही है "
"Mukhya Baat" "मुख्य बात "

इतना तो सब को पता है , लेकिन जो मुख्य बात है , वह है -'कृष्ण नाम सदा लबे' अर्थात सदा , सदैव कृष्ण नाम लेना कृष्ण नाम होता रहे - ये बात मुख्य है नाम होता रहे , उसके लिए ये चार बातें हैं टारगेट नाम है , न की ये चार बातें

समस्त वैष्णव वृंद को दासाभास का प्रणाम ।

।। जय श्री राधे ।।

।। जय निताई ।। लेखक दासाभास डॉ गिरिराज

धन्यवाद!! www.shriharinam.com संतो एवं मंदिरो के दर्शन के लिये एक बार visit जरुर करें !! अपनी जिज्ञासाओ के समाधान के लिए www.shriharinam.com/contact-us पर क्लिक करे।

47 views0 comments